दोस्तों आज हम बात करने वाले electric vehicles के बारे में, जैसे कि आपको पता है आज ही के दिन मैं भारत में बिजली से चलने वाले वाहनों का काफी जोरो  से प्रचार किया जा रहा है, हम आपको electric vechicles बारे में जानकारी हिंदी में देने वाले हैं तो इस आप अंत तक पढ़े!

2008 में बहुत सी संस्था ने और अलग-अलग देश electric vehicles को बढ़ावा देना शुरू कर दिया था इसका कारण यह था क्योंकि इलेक्ट्रिक  वाहन से वातावरण को कोई भी नुकसान नहीं पहुंचता है और वह green house effect और CO2 को कम करना चाहते हैं!

सभी बिजली से चलने वाली कार मेक तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है जिसका नाम है regenerating braking

इस तकनीक भी होता है कि यदि आप अपनी कार को रोकते हैं तो इससे आपकी कार की बैटरी चार्ज होगी यह काफी अच्छा अविष्कार है क्योंकि इसे आप बिजली की खपत को भी कम कर सकते हैं और आपकी गाड़ी एक अच्छी माइलेज भी देगी!

हॉल में आपने देखा होगा कि यह समय बिजली से चलने वाले वाहनों को लेकर लोगों में काफी उत्सुकता है और electric vehicles से releated न्यूज हर दिन आती रहती है! आज हम आपकी electric vehicles से जुड़ी जितने भी प्रश्न है उन सब का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगा!



Electric vehicles in Hindi






Electric vehicles in Hindi (2022)


Electric car, जो कि बिना किसी पेट्रोल डीजल के बिजली के द्वारा उपयोग या चलने में सक्षम होता है! 
अगर आपको थोड़ी विस्तार में समझाने की कोशिश करें तो इलेक्ट्रिक व्हीकल मैं एक बैटरी होती है जो कि बिजली की मदद से चार्ज होती है और electric car उसी बैटरी से मिलने वाली ऊर्जा की मदद से चलती है!

आजकल इलेक्ट्रिक व्हीकल्स का उपयोग काफी बढ़ गया है इसके कई कारण है क्योंकि यह चलते वक्त कोई भी आवाज नहीं करती है और साथ ही इस महंगाई भरे दौर में जिसमें पेट्रोल और डीजल के दाम बहुत पढ़ चुके हैं उसका भी उपयोग यह कार नहीं करती है!
Electric car बिजली से charge हुई battery से चलाई जा सकती है! और इसकी  maintenance काफी कम होती है,  

शुरू में जब इलेक्ट्रिक कार बनाई गई थी, तो इसकी बैटरी को lead-acid या nickel metal hydride की मदद से चला जाता था, आज के समय में जहां पर टेक्नोलॉजी का भरपूर उपयोग किया जा रहा है, वहीं इन बैटरी को lithum ion battery से बदल दिया गया! इसका कारण यह है कि यह सभी बैटरी से ज्यादा कारगर और ज्यादा समय तक आप को ऊर्जा प्रदान कर सकती है!

Electric vehicles के प्रकार -

मुख्यता आप इलेक्ट्रिक vehicles को  चार प्रकार में बांट सकते हैं -
  1. Fully electric vehicles
  2. Plug in hybrid electric vehicles
  3. Hybrid electric vehicles
  4. Fuel cell electric vehicles
कुछ electric vehicles battery जो की बिजली की मदद से चार्ज होती हैं उससे चलती हैं तो कुछ electric कार में बैटरी और petrol या डीजल की मदद से चलने का विकल्प होता है!
अगर आप विचारों के बारे में थोड़ा समय में जाते हैं तो नीचे दी गई तस्वीर को ध्यान से देखें आपको उसे देखकर सब समझ आ जाएगा अगर आप फिर भी नहीं समझ पाए तो इसके बारे में सारी जानकारी नीचे विस्तार में दी गई है!







Electric vehicles Hindi में!

अगर हम बात करें battery electric vehicles की तो इनमें आप सिर्फ बिजली की मदद से उपयोग में ला सकते हैं!
कहने का तात्पर्य यह है कि आपको इसमें बिजली की मदद से बैटरी को चार्ज करना होता है और उससे मिलने वाली ऊर्जा से गाड़ी के पहियों में लगी मोटर को ताकत मिलती है जिससे वह और रोड पर एक अच्छी गति से चल पाती है!
बिजली से चलने वाली वाहन को पेट्रोल से चलने वाले वाहन से तुलना करें तो बिजली से चलने वाली और ना ही किसी प्रकार की आवाज निकालती है और ना ही किसी प्रकार का प्रदूषण करती है जो कि आज के समय में हमारी पृथ्वी के लिए जरूरी बन चुका है मेरे अनुसार बिजली से चलने वाले वाहनों का भारत में भविष्य बहुत ही उज्ज्वल होने वाला है, वह दिन दूर नहीं जब हमें हर जगह बिजली से चलने वाले वाहन दिखाई देंगे!

Plug in hybrid electric vehicles kya होती हैं!

यदि आप जाने जाते हैं plug in hybrid electric vehicles , जिन गाड़ी में यह तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है उनको चलाने के लिए आप बिजली  और पेट्रोल या डीजल की मदद से अपनी गाड़ी को चला सकते हैं! दरअसल इसमें आप अपनी गाड़ी की बैटरी को बिजली की सहायता से भी चार्ज कर सकते हैं और पेट्रोल या डीजल की मदद से भी गाड़ी की बैटरी को चार्ज कर सकते हैं! इस तकनीक पर बनी electric vehicles आप आ जाइए होता है कि यदि आपकी गाड़ी की बैटरी खत्म हो जाती है और आसपास कोई भी बिजली का स्रोत ना होने पर आप पेट्रोल या डीजल की मदद से अपनी गाड़ी की बैटरी को चार्ज कर सकते हैं!


Hybrid electric vehicles क्या होती हैं?

Hybrid electric vehicles in Hindi में कार की बैटरी को पेट्रोल या डीजल की मदद से चार्ज  किया जाता है, इस तकनीक पर काम करने वाली इलेक्ट्रिक कार में बिजली की मदद से कार की बैटरी को चार्ज नहीं किया जाता है! 

Fuel cell electric vehicles kya होती है?

Fuel cell vehicles वह गाड़ी होती है जो कि chemical energy को electrical energy में convert करके काम करती है! दरअसल इसमें एक पैक लगा दिया जाता है जिसमें H2 GAS भरी होती है! और इसी गैस का इस्तेमाल fuel के रूप में किया जाता है! इस तकनीक पर काम करने वाले का सबसे बेहतरीन इलेक्ट्रिक कार मानी जा सकती है और इसमें zero emession होता है! 


Electric vehicles कैसे काम करते हैं?

यदि हम बात करें  की electric vehicles in India कैसे काम करती है , तो इंडिया में जितने भी इलेक्ट्रिक व्हीकल है वह सभी ऑटोमेटिक आ रही है! यानी कि आपको इसमें गेट बदलने की कोई भी चिंता नहीं करनी पड़ती है! चलिए बात कर लेते हैं कि जब तक विकास कैसे काम करती है!

इलेक्ट्रिक वाहन कैसे चलते हैं


ईवी एक स्वचालित कार की तरह हैं। उनके पास फॉरवर्ड और रिवर्स मोड है। जब आप वाहन को गियर में रखते हैं और एक्सेलेरेटर पेडल दबाते हैं तो ये चीजें होती हैं:

इलेक्ट्रिक मोटर के लिए पावर को डीसी बैटरी से एसी में बदला जाता है
त्वरक पेडल नियंत्रक को एक संकेत भेजता है जो एसी पावर की आवृत्ति को इन्वर्टर से मोटर में बदलकर वाहन की गति को समायोजित करता है।
मोटर एक कोग . के माध्यम से पहियों को जोड़ता है और घुमाता है
जब ब्रेक दबाया जाता है या कार धीमी हो रही है, तो मोटर एक अल्टरनेटर बन जाती है और बिजली पैदा करती है, जिसे बैटरी में वापस भेज दिया जाता है।

एसी/डीसी और इलेक्ट्रिक कारें

AC का मतलब प्रत्यावर्ती धारा है। एसी में, करंट एक निर्धारित आवृत्ति पर दिशा बदलता है, जैसे घड़ी पर पेंडुलम।
DC,डायरेक्ट करंट के लिए खड़ा है। डीसी में, करंट केवल एक दिशा में प्रवाहित होता है, धनात्मक से ऋणात्मक की ओर।

बैटरी इलेक्ट्रिक वाहन

बैटरी इलेक्ट्रिक वाहन के प्रमुख घटक हैं:

बिजली की मोटर
Inverter
बैटरी
बैटरी चार्जर
नियंत्रक
केबल चार्ज
बिजली की मोटर
आपको जूसर और टूथब्रश, वाशिंग मशीन और ड्रायर से लेकर रोबोट तक हर चीज में इलेक्ट्रिक मोटर मिल जाएगी। वे परिचित, विश्वसनीय और बहुत टिकाऊ हैं। इलेक्ट्रिक वाहन मोटर एसी पावर का उपयोग करते हैं।

Inverter
इन्वर्टर एक ऐसा उपकरण है जो डीसी पावर को इलेक्ट्रिक वाहन मोटर में प्रयुक्त एसी पावर में परिवर्तित करता है। इन्वर्टर प्रत्यावर्ती धारा की आवृत्ति को समायोजित करके उस गति को बदल सकता है जिस पर मोटर घूमता है। यह सिग्नल के आयाम को समायोजित करके मोटर की शक्ति या टोक़ को बढ़ा या घटा भी सकता है।

बैटरी
एक इलेक्ट्रिक वाहन उपयोग के लिए तैयार विद्युत ऊर्जा को स्टोर करने के लिए बैटरी का उपयोग करता है। एक बैटरी पैक कई कोशिकाओं से बना होता है जिन्हें मॉड्यूल में समूहीकृत किया जाता है। एक बार जब बैटरी में पर्याप्त ऊर्जा जमा हो जाती है, तो वाहन उपयोग के लिए तैयार हो जाता है।

हाल के वर्षों में बैटरी तकनीक में काफी सुधार हुआ है। वर्तमान ईवी बैटरी लिथियम आधारित हैं। इनमें डिस्चार्ज की दर बहुत कम है। इसका मतलब है कि अगर ईवी को कुछ दिनों या हफ्तों तक नहीं चलाया जाता है तो उसे चार्ज नहीं खोना चाहिए।

बैटरी चार्जर
बैटरी चार्जर हमारे बिजली नेटवर्क पर उपलब्ध एसी पावर को बैटरी में संग्रहीत डीसी पावर में परिवर्तित करता है। यह चार्ज की दर को समायोजित करके बैटरी कोशिकाओं के वोल्टेज स्तर को नियंत्रित करता है। यह सेल के तापमान की निगरानी भी करेगा और बैटरी को स्वस्थ रखने में मदद करने के लिए चार्ज को नियंत्रित करेगा।

नियंत्रक
नियंत्रक एक वाहन के मस्तिष्क की तरह है, जो उसके सभी मापदंडों का प्रबंधन करता है। यह बैटरी से प्राप्त जानकारी का उपयोग करके चार्ज की दर को नियंत्रित करता है। यह मोटर इन्वर्टर में गति को समायोजित करने के लिए त्वरक पेडल पर दबाव का भी अनुवाद करता है।

केबल चार्ज
मानक चार्जिंग के लिए एक चार्जिंग केबल की आपूर्ति की जाती है और वाहन में संग्रहीत किया जाता है। इसका उपयोग घर पर या मानक सार्वजनिक शुल्क बिंदुओं पर चार्ज करने के लिए किया जाता है। फास्ट चार्ज प्वाइंट की अपनी केबल होगी।







Battery electric vehicles के फायदे!

(Electric vehicles fayde in hindi)
  •  बैटरी इलेक्ट्रिक व्हीकल मे बहुत तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि आपकी कार चलते वक्त भी अपने आप चार्ज होगी यदि आपके कार के पहिए के घूमने पर जो ऊर्जा उत्पन्न होगी, वो अपने आप battery में store हो जाएगी! इस प्रकार हम electric vehicles को energy-effecient बोल सकते हैं!
  • यदि आप इलेक्ट्रिकल का इस्तेमाल करते हैं तो इसमें प्रदूषण आदि की कोई भी समस्या नहीं होती है और यह वातावरण को साफ रखने में सहायक होगा!
  • अगर आप इलेक्ट्रिक vehicles का इस्तेमाल करते हैं तो इसमें आपका कोई भी पेट्रोल या डीजल का खर्चा नहीं होगा!

इलेक्ट्रिक विकास के नुकसान

  • बिल्कुल मुफ्त बिजली बिल्कुल भी मुक्त नहीं है यानी कि आपको अपनी कार को चार्ज करने के लिए बिजली का उपयोग करना होगा और जिसके लिए आपको पैसे देने पड़ेंगे!
  • Charging station जिसे कि आप अपनी कार को चार्ज कर सकते हैं वह हर जगह उपलब्ध नहीं हो सकते हैं!
  • Car को charge करने करने में समय लगता है और अगर आपको कोई जरूरी काम होगा तो आप वह काम पूरा नहीं कर पाएंगे!

Conclusion

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की इलेक्ट्रिक कार के क्या फायदे हैं और साथी अपने इनसे जुड़े संभावित नुकसान के बारे में भी पढ़ा। लेख से संबंधित किसी प्रकार का कोई सवाल, सुझाव या शिकायत हो तो नीचे कमेंट करके हमें अवश्य बताएं, धन्यवाद!



और नया पुराने